सेवायोजन

जनपद गाजियाबाद सन् 1976 में बनने के साथ जिला सेवायोजन कार्यालय की स्थापना हुई। जिला सेवायोजन कार्यालय की क्षेत्र सीमा में औद्योगिक इकाईयों की बहुलता के कारण रोजगार की अत्यधिक सम्भावना की समीक्षा निरीक्षण एवं मार्गदर्शन प्रदान करने हेतु एक क्षेत्र रोजगार विकास इकाई की भी स्थापना की गई,  (विकलांग) प्रकोष्ठ की भी स्थापना की गई।
गाजियाबाद में अनुसूचित जाति एवं जनजाति एवं पिछडी जाति के महिला एवं पुरूष बेरोजगार अभ्यार्थियों के लिए एक शिक्षण एवं मार्गदर्शन केन्द्र की स्थापना की गई । इस केन्द्र के द्वारा अभ्यर्थियों को सामान्य ज्ञान हिन्दी, गणित, अंग्रेजी, तर्कशिक्षा, सचिवालय पद्धति हिन्दी, अंग्रेजी, टंकण एवं आशुलेखन का ज्ञान निःशुल्क प्रदान कराया जाता है।
इस प्रकार सेवायोजकों एवं बेरोजगार अभ्यर्थियों के बीच रोजगार के आवश्यकता की पूर्ति में मध्यस्थ की भूमिका के निर्वहन हेतु सेवायोजन कार्यालय बेरोजगार अभ्यार्थियों को पंजीकृत करके सेवायोजकों से रिक्तियों की सूचना प्राप्त कर उपयुक्त अभ्यार्थियों को चयन हेतु सेवायोजकों के पास भेजकर अभ्यार्थियों को रोजगार के अवसर सुलभ कराते हैं।

विभागीय वेबसाइट http://sewayojan.up.nic.in/

जनपद में सेवायोजन कार्यालय द्वारा किया गया कार्य
क्र. सं. मद 2015-16 2016-17 2017-18
1 सेवायोजन कार्यालयों की संख्या 2 2 2
2 जीवित पंजिका पर अभ्यार्थियों की संख्या 22547 23161 23161
3 वर्ष में पंजीकृत अभ्यार्थियों की संख्या 3435 6905 6905
4 सूचित रिक्तियों की संख्या 30 6 6
5 वर्ष में रोजगार पर लगाये गये व्यक्तियों की संख्या 411 1654 1654